Tag Archives: Omkar Singh Vivek

आपके आने से (कविता) – ओंकार सिंह ‘विवेक’

मुक्तक (1) आपके आने से हर मंज़र सुहाना हो गया , हर किसी के दिल में ख़ुशियों का ठिकाना हो गया . आपकी आमद के कारण ही हमारी बज़्म में , जो न आते थे कभी उनका भी आना हो … Continue reading

Posted in Members Contributions, Members' Creations | Tagged | Comments Off on आपके आने से (कविता) – ओंकार सिंह ‘विवेक’