Monthly Archives: August 2016

ग़ज़ले 5 – धवल चोखडिया

ग़ज़ले – धवल चोखडिया   (1)   कुछ इस तरह हम सब से अलग हो गए जैसे सुबह को आँखों से नींद चली जाती है   आखिर तक उसने गुफ्तगू की उम्मीद रखी लेकिन कुछ बातें नज़रो से भी कही … Continue reading

Posted in Notices | Tagged , , , | Comments Off on ग़ज़ले 5 – धवल चोखडिया

प्यास का मौसम (कविता) – उमेश धरमराज

प्यास का मौसम यादें जगा रहा हैं बरसात का मौसम आया हैं लौट के फीर प्यास का मौसम. ए काश के मुझको अभी होश ना होता या फिर तक़दिर में दोष ना होता. अमृत क्यों ना बरसे रातों में तेरे … Continue reading

Posted in Members Contributions, Members' Creations | Tagged | Comments Off on प्यास का मौसम (कविता) – उमेश धरमराज

हुआ तेरे हक़ में फैसला – ग़ज़ल – उमेश धरमराज

हुआ तेरे हक़ में फैसला   तुझसे पहले कितने मिले तुझसा पहले नहीं मिला. हर शै तुझसे हार गयी हुआ तेरे हक़ में फैसला.   सबब ये हैं दिदार हो ये हैं चर्चे तेरे ही नूर के. हद-ए-नज़र तक कारवां … Continue reading

Posted in Members Contributions, Members' Creations | Tagged , | Comments Off on हुआ तेरे हक़ में फैसला – ग़ज़ल – उमेश धरमराज

तज़करा तेरी जुदाई का मगर होता है (ग़ज़ल) – सय्यद निसार अहमद

ग़ज़ल तज़करा तेरी जुदाई का मगर होता है ********************************* जब कभी मेरे तख़य्युल का सफ़र होता है ! ऐसा क्यों है तेरे कूचे से गुज़र होता है !! जब तेरा रूप मेरे पेश-ए-नज़र होता है ! मेरे अश्कों में मेरा … Continue reading

Posted in Members Contributions, Members' Creations | Tagged , | Comments Off on तज़करा तेरी जुदाई का मगर होता है (ग़ज़ल) – सय्यद निसार अहमद

The SHINING STAR in a Single Night – Koustubh Sapre

Title : The SHINING STAR in a Single Night Author: Koustubh Sapre  Read it Twice, Nobody knows who might become the SHINING STAR Overnight. Respect art and respect and appreciate others’ talent. This will allow you to become a better person. Rejection … Continue reading

Posted in Members Contributions, Members' Articles | Comments Off on The SHINING STAR in a Single Night – Koustubh Sapre

गीत – मेरी राहों में पड़े (समीक्षा) – अमित कुमार तिवारी

SONG  REVIEW गीत – मेरी राहों में पड़े गीतकार – अभेन्द्र कुमार उपाध्याय संगीत एवं गायन – अंकित तिवारी समयावधि – 5’28” गीत रिलीज़ – 29 मार्च 2016 शैली – विरह गीत    (SEPARATION SONG) फिल्म – ब़ागी (BAAGHI) Lyrics … Continue reading

Posted in Members Contributions, Members' Reviews | Tagged | Comments Off on गीत – मेरी राहों में पड़े (समीक्षा) – अमित कुमार तिवारी

जवानी वतन के नाम लिखता है (गीत) – अमित कुमार शर्मा

     जवानी वतन के नाम लिखता है। ज़ज्बे के पन्नों पर इरादों की कलम से, सहादत का कलाम लिखता है। हर जवान अपनी जवानी वतन के नाम लिखता है। हमनें तो महबूबा मुल्क़ को समझा है बस इसी से मोहब्बत … Continue reading

Posted in Members Contributions, Members' Creations | Tagged | Comments Off on जवानी वतन के नाम लिखता है (गीत) – अमित कुमार शर्मा

Writers’ Rights: Are Agents & Lawyers The Answer?

On the first session of the second day (Aug 4, 2016) of the fourth Indian Screenwriters Conference (ISC) held by the Film Writers Association, Mumbai, some basic, some advanced but all pertinent questions were asked about the legal rights of … Continue reading

Posted in Indian Screenwriters' Conference | Tagged , | Comments Off on Writers’ Rights: Are Agents & Lawyers The Answer?

Delegate Kits for ISC 4

The ISC 4 delegate kits will be delivered at the Venue St. Andrew’s Auditorium Bandra (W) on the first day, 3rd Aug from 9 AM onwards. Delegates are requested to show their Membership or ID Cards alongwith the proof of registration – soft … Continue reading

Posted in Indian Screenwriters' Conference | Comments Off on Delegate Kits for ISC 4