Monthly Archives: February 2016

Screenwriting Workshop

Posted in NewsNReports | Comments Off on Screenwriting Workshop

Neerja (Film Review) – By Rajnni

NEERJA A Review – By RAJNNI Neerja Bhanot, the senior flight purser on the ill-fated Pan Am Flight 73 flying from Mumbai to USA, which was hijacked by four armed men on 5th Sept 1986 at Karachi airport in Pakistan. … Continue reading

Posted in Members Contributions, Members' Reviews | Tagged | Comments Off on Neerja (Film Review) – By Rajnni

२० फरवरी २०१६ की सभा के वीडियोस

शनिवार दि. २० फरवरी २०१६ को हुई कवि गोष्टी और शेरी नशिस्त की सभा में प्रस्तुत ग़ज़ले और कविताओं के videos के links यहाँ दिए जा रहे हैं. सभी से विनंती है कि वीडियो देखें, like करें, share करें और कलाकारों को प्रोत्साहन दे. साथ ही अगली सभा में स्वयं आकर सभा की … Continue reading

Posted in कवि गोष्टी और शेरी नशिस्त के मंच से | Tagged , , , , | Comments Off on २० फरवरी २०१६ की सभा के वीडियोस

तेरी कमी (कविता) – जय शंकर झा

तेरी कमी इन् हवाओ में आज एक कमी सी लगी फिर से वो मेरे बदन का पसीना पोंछकर तो गुजरा फूलो की खुशबू धुप की मासुमियत मौसम की मदमस्ती यु तो पहले ही सा था सब नजारा;   मगर आज! … Continue reading

Posted in Members Contributions, Members' Creations | Tagged , , | Comments Off on तेरी कमी (कविता) – जय शंकर झा

चेहरे की चंद लकीरों ने (कविता) – शशि कान्त जुनेजा

चेहरे की चंद लकीरों ने ,लिख डाली नई कहानी. पहले तो खोया बचपन , अब खो गई जवानी . न कोई शिकन थी चेहरे पर ना ज़िक्र कोई, कर डाला जो कर डाला, पर न फ़िक्र कोई. रोज सुनाया करते … Continue reading

Posted in Members Contributions, Members' Creations | Tagged , | Comments Off on चेहरे की चंद लकीरों ने (कविता) – शशि कान्त जुनेजा

आओ आओ ग़ज़ल सी बात करें (कविता) – शशि कान्त जुनेजा

आओ आओ ग़ज़ल सी बात करें,पूरी आधी रात करें . चाँद सितारों की महफ़िल में खुद को आत्मसात करें. आओ ग़ज़ल सी बात ………. यह चाँद भी बोले गा, हर तारा बोले गा, काली रात का साया भी, हर लम्हा … Continue reading

Posted in Members Contributions, Members' Creations | Tagged , | Comments Off on आओ आओ ग़ज़ल सी बात करें (कविता) – शशि कान्त जुनेजा

कुछ यादें (कविता) – अब्दुल्लाह खान

कुछ यादें ———————————————— माज़ी के दरीचे से कुछ यादें उतर आयीं  हैं मेरे ख्यालों के सेहन में तबस्‍सुम से लबरेज़ यादे  ग़म से आलूदा यादें यादें जो पुरसुकून हैं यादें जो बेचैन  हैं  मेरे वॉर्डरोब  में रखे कपड़ो की महक … Continue reading

Posted in Members Contributions, Members' Creations | Tagged , | Comments Off on कुछ यादें (कविता) – अब्दुल्लाह खान

Batain Karni Aati jo hame (Kavita) – Nitin Keswani

Batain Karni Aati jo hame Bus wahi thamkar mera ho jata.. woh samay Batain karni aati jo hame Palkhen jhapki nahi kabhi.. hotte they tum jo samne , Ab dikhti ho tum sirf ankhen band ho jane ke bad, Hamesha … Continue reading

Posted in Members Contributions, Members' Creations | Tagged , | Comments Off on Batain Karni Aati jo hame (Kavita) – Nitin Keswani