बात कौन करे (कविता) – जयेश मेस्त्री

बात तो करनी है,
बात कौन करे
पहले तुम या मैं,
बात कौन करे

चांद तेरे इश्क में
बावला हो गया
गजब है, हाय
अब रात कौन करे

दिल ही दिल से अगर
मिलते रहे तो
आपस में
मुलाकात कौन करे

मेरी चुप्पी बैठी है
मुझसे रुठकर
सोच रही है
की बात कौन करे

जयेश शत्रुघ्न मेस्त्री

Advisory Panel Member – Censor Board (CBFC), Copywriter at ‘Agencydigi’, Sub-Editor at Sahitya Upekshitanche AND Translator, Lyricist, Poet, Screenwriter. Public Speaker, Columnist, Analyst, Director, Theatre Artist.. 

जयेश मेस्त्री

contact@mestrysolutions.in

www.jayeshmestry.in 

www.mestrysolutions.in 

www.prabodhakformumbai.in

This entry was posted in Members Contributions, Members' Creations and tagged , , . Bookmark the permalink.