1
 
 
1  About Us
1  Executive Committee
1  Constitution
1  Welfare Section

Constitution in English

संविधान
द स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन, मुम्बई 

(17 जुलाई 2016 की विशेष आमसभा में संशोधित)

1. नाम :
द स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन ( आगे यह “एसोसिएशन” के रूप में संबोधित है ) ट्रेड यूनियन एक्ट, 1926 के तहत पंजीकृत फिल्म और टेलीविजन इंडस्ट्री के स्क्रीनराइटर्स का ट्रेड यूनियन है.
2. कार्यालय :
एसोसिएशन का पंजीकृत कार्यालय बृहन्नमुम्बई की सीमा के भीतर होगा. वर्तमान में कार्यालय का पता है : 201-204, ऋचा, प्लॉट नंबर बी-29, ऑफ लिंक रोड, अपोजिट सिटी मॉल, अन्धेरी(पं.), मुम्बई-400053.  
3)  लक्ष्य और उद्देश्य :
द स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन एक स्वायत्त संगठन होगा, जिसके निम्नलिखित लक्ष्य और उद्देश्य हैं.
3.अ) अपने सदस्यों के बीच एकता, भाईचारा एवं बहनापा को प्रोत्साहित करना.                                                        
3.आ) सामूहिक मोलभाव के जरिए, जिसमें फिल्म और टेलीविजन राइटर्स तथा गीतकारों के न्यूनतम आधार अनुबंध, नए मीडिया में काम करनेवालों के निश्चित न्यूनतम शुल्क और भारत के मौजूदा कॉपीराइट लॉ के तहत मिले लेखको-गीतकारों के सारे वैधानिक अधिकारों की सुरक्षा शामिल है, के माध्यम से निर्माताओं, निर्देशकों, स्टूडियोज, नेटवर्क्स, चैनल्स और अन्य, जिन्हें स्क्रीनराइटर्स अपना कार्य सौपेंगे के साथ अपने सदस्यों के संबंधों को नियमित बनाये रखना.  
3.इ) अपने सदस्यों के पेशेगत व्यस्तताओं और कार्य करने की शर्तों से संबंधित सारे हितों, अधिकारों और सुविधाओं की रक्षा और सुरक्षा करना. 
3.इ.1) यद्यपि, एसोसिएशन अपने सदस्यों के रोजगार अथवा अनुबंध / सौंपे गये कार्य के लिए उत्तरदायी नहीं होगा.
3.ई) अपने सदस्यों के बीच पेशेगत आचरण, सत्यनिष्ठा व एकता के उच्च मानकों को प्रोत्साहित करना और बढ़ावा देना. स्क्रिप्ट व गीत लेखन शिल्प को और बेहतर बनाने के लिए सदस्यों को सीखने के समुचित अवसर प्रदान करना.   
3.उ) अपने सदस्यों और निर्माताओ, निर्देशकों, स्टूडियोज, टीवी नेटवर्क्स, वेब नेटवर्क्स, नियोक्ता आदि के साथ हुए अनुबंधों अथवा समझौतों की शर्तों के किसी भी प्रकार के उल्लंघन से उपजे विवाद की स्थिति में उपयुक्त समाधान ढूँढने की दृष्टि से मध्यस्थता करना. अनुबंधों के वादों और कॉपीराइट के उल्लंघन की वजह से अपने सदस्यों के बीच के उपजे विवादों को भी संबोधित करना और मध्यस्थता करना.   
3.ऊ) किसी तरह की दुर्घटना होने की स्थिति में वर्कमेंस कंपेनसेशन एक्ट के तहत, तथा उपलब्ध अन्य संबंधित कानूनों के माध्यम से अपने सदस्यों के लिए कानूनी और न्यायसंगत क्षतिपूर्त्ति हासिल करना. 
3.ए) अपने सदस्यों के पेशे के बाहर से / अथवा आकस्मिक रूप से उत्पन्न हुए मामलों में कानूनी परामर्श तथा ऎसी अन्य सहायता सेवाओं सहित कानूनी सहयोग उपलब्ध कराना.
3.ऎ) स्क्रीनराइटर्स के अधिकारों के लिए अगर कोई खतरा बनता है तो मानक के तौर पर उस मामले को लिया जायेगा.  
3.ओ) धारा 3.ए में वर्णित ऎसे सारे मामलों में कार्यकारिणी समिति छानबीन के बाद उपयुक्त निर्णय लेगी. 
3.औ) केन्द्र या राज्य सरकारों या फिल्म इंडस्ट्री या अन्य निकायों द्वारा गठित प्रतिमिधिमण्डलों, आयोगों, समितियों आदि में, जहाँ स्क्रीनराइटर्स से संबंधित मुद्दों पर विचार-विमर्श किया जायेगा, वहाँ अपने सदस्यों का प्रतिनिधित्व हासिल करने का प्रयास करना.
3.अं) अपने सदस्यों के अधिकारों को हासिल करने और सुरक्षा प्रदान करने के लक्ष्य सहित स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन के सभी लक्ष्यों और उद्देश्यों को बढ़ावा देने के लिए किसी भी व्यक्ति अथवा संगठन, चाहे वह निजी हो या सरकारी, भारत में हो या अंतरराष्ट्रीय स्तर पर, के साथ मिलकर काम करना. साथ ही, स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन के सदस्यों के साथ-साथ अन्य स्क्रीनराइटर्स के लेखन-शिल्प और करियर को बेहतर बनाने के लिए पहल करना.   
4. सदस्यता की परिभाषा :
4.अ) स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन की सदस्यता से तात्पर्य उन स्क्रीनराइटर्स को सदस्य बनाने से है, जो भारत में रहते हैं और फिल्मों, टेलीविजन, श्रव्य प्रारूपों डिजिटल अथवा अन्य मंचों अथवा किसी नए मीडिया स्वरूपों के लिए स्क्रिप्ट और/या गीत लिखते हैं. 
4.आ) अनिवासी भारतीयों के साथ-साथ विदेशी नागरिकों, जो भारत के बाहर के हैं, को भी फेलो मेम्बरशिप कार्यकारिणी समिति द्वारा समय-समय पर निर्धारित किये जाने वाले नियमों और शर्तों के आधार पर दी जा सकती है.
5. सदस्यता :
5.अ.1) कोई भी व्यक्ति, जिसकी उम्र 18 साल पूरी हो चुकी है और घारा 4 के अनुसार लेखन कार्य में संलग्न हो, वह जाति,धर्म,लिंग,रंग,नस्ल,और भाषा के आधार पर बिना किसी भेदभाव के एसोसिएशन का सदस्य बन सकता है. ऎसे व्यक्ति की सदस्यता के लिए एक लाइफ या रेगुलर मेंबर द्वारा प्रस्तावित तथा किसी अन्य लाइफ या रेगुलर मेम्बर के द्वारा अनुमोदित किया जाना आवश्यक होगा. सदस्यता के आवेदन के लिए एसोसिएशन के निर्धारित प्रपत्र (फॉर्म) को अच्छी तरह भरकर कार्यालय में जमा कराना होगा.        
5.अ.2) अपवाद स्वरूप मामलों में एसोसिएशन की कार्यकारिणी समिति की स्वीकृति के बाद उस व्यक्ति को भी एसोसिएशन की सदस्यता दी जा सकती है, जिसकी उम्र 18 साल से कम हो.                                                         
5. आ) सदस्यता की चार श्रेणियाँ है.
5. आ.1) रेगुलर मेम्बर : निम्नलिखित व्यक्ति रेगुलर मेम्बर बनने के पात्र हैं : कोई भी व्यक्ति, जिसके द्वारा लिखी गई कहानी, या पटकथा, या संवाद पर बनी फिल्म, जिसकी क्रेडिट टाइटिल में उस व्यक्ति का नाम दर्ज हो और सेंसर बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन द्वारा प्रमाणित हो चुकी हो. या टीवी सीरियल अथवा टीवी के किसी कार्यक्रम में क्रियेटेड (सृजित), कहानी, पटकथा, अथवा संवाद के तौर पर केडिट टाइटिल में उस व्यक्ति का नाम आया हो या किसी फिल्म अथवा टीवी सीरियल अथवा किसी अलबम में गीतकार के तौर पर क्रेडिट टाइटिल में नाम दर्ज हुआ हो.
5. आ. 2) एसोसिएट मेम्बर : कोई भी लेखक जो किसी निर्माता के पेशेवर और वैधानिक अनुबंध द्वारा किसी फिल्म या टीवी कार्यक्रम के लिए कथा, या पटकथा, या संवाद, या गीत लिखने के अनुबंधित किया गया हो और उस निर्माता द्वारा उसे पारिश्रमिक के तौर पर दिया गया पहला चेक उसके एकाउंट में कैश हो चुका हो, या किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से स्क्रीनराइटिंग में कम से कम एक साल अध्ययन करने का प्रमाणपत्र या डिप्लोमा प्रमाणपत्र उसने प्राप्त किया हो, वह एसोसिएट  मेम्बर बनने की पात्रता रखता है. इस श्रेणी में सदस्य बने रहने की अधिकतम समय सीमा 3 साल की है. यदि इन तीन वर्षों के भीतर इस श्रेणी के सदस्य रेगुलर मेम्बर की श्रेणी में अपग्रेड नहीं हो पाते हैं, तो वैसे एसोसिएट सदस्य की सदस्यता स्वतः समाप्त हो जायेगी. ऎसी स्थिति में दोबारा सदस्य बनने के लिए उन्हें नए सिरे से एसोसिएशन का निर्धारित सदस्यता प्रपत्र भरकर पुनः सदस्यता हेतु आवेदन करना होगा.
5. आ.3) फेलो मेम्बर : कोई भी व्यक्ति, जिसमें स्क्रीनराइटर बनने की महत्वाकांक्षा हो, वह एसोसिएशन का फेलो मेम्बर बन सकता है. फेलो मेम्बर एसोसिएशन में अपने लेखन कार्य का पंजीयन करवा सकता है, लेकिन उसे स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन की आमसभा में शामिल होने  तथा एसोसिएशन की कार्यकारिणी समिति के चुनाव में उम्मीदवार के तौर पर खड़ा होने और मतदान करने का अधिकार नहीं होगा. वह एसोसिएशन के कार्यक्रमों, जैसे सेमिनार, कॉन्फ्रेंस, वर्कशॉप आदि में अपने शिल्प को निखारने के लक्ष्य के साथ भाग ले सकता है. फेलो मेम्बरशिप की समय सीमा भी अधिकतम 3 साल की है. इन तीन वर्षों के अन्दर यदि फेलो मेम्बर मेम्बरशिप की ऊपर की श्रेणियों एसोसिएट या रेगुलर मेम्बर श्रेणी में अपग्रेड नहीं हो पाता है, तो उसकी सदस्यता स्वतः समाप्त हो जायेगी. ऎसी स्थिति में यदि वह वापस एसोसिएशन का मेम्बर बनने की इच्छा रखता हो, तो उसे दोबारा नए सिरे से एसोसिएशन का निर्धारित सदस्यता प्रपत्र भरकर पुनः सदस्यता पाने हेतु आवेदन करना होगा.
5. आ. 4) लाइफ मेम्बर: कोई भी रेगुलर मेम्बर या रेगुलर मेम्बर बन पाने की पात्रता रखनेवाला व्यक्ति समय समय पर एसोसिएशन की कार्यकारिणी समिति द्वारा लाइफ मेम्बरशिप के लिए निर्धारित की गई राशि का भुगतान करके लाइफ मेम्बर बन सकता है. तत्पश्चात, लाइफ मेम्बर को मासिक सदस्यता शुल्क देने की आवश्यकता नहीं होगी.         
5. इ) यदि फेलो मेम्बर एसोसिएट मेम्बर या रेगुलर मेम्बर के तौर पर अपग्रेड होने की पात्रता रखता है, अथवा कोई एसोसिएट मेम्बर रेगुलर मेम्बर में अपग्रेड होने की पात्रता रखता है, तो उसे अनिवार्य रूप से उपयुक्त श्रेणी में अपग्रेड हो जाना होगा. यदि इस संबंध में स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन द्वारा भेजे गये नोटिस को पाने के बाद भी वह समुचित सदस्यता श्रेणी के लिए आवेदन नहीं करता है, तो उसकी वर्तमान सदस्यता भी रद्द कर दी जायेगी.     
6. नामांकन शुल्क एवं मासिक सदस्यता शुल्क :
नामांकन शुल्क और वार्षिक  सदस्यता शुल्क को समय समय पर कार्यकारिणी समिति द्वारा उचित और उपयुक्त विचार-विमर्श कर संशोधित किया जाएगा.
वर्तमान मासिक सदस्यता शुल्क इस प्रकार है :
लाइफ मेम्बर : 21,000/- (कुल शुल्क जीवन भर के लिए)
रेगुलर मेम्बर : 10/-
एसोसिएट मेम्बर : 6/-
फेलो मेम्बर : 6/-
7. सदस्यों के अधिकार और कर्तव्य  
7. अ) रेगुलर, लाइफ और एसोसिएट मेम्बर के अधिकार
7.अ.1) आमसभा में शामिल होने का अधिकार, उसके विचार-विमर्श में भाग लेने का अधिकार और प्रस्तावों पर मत देने का अधिकार. 
7. अ. 2) पेंशन, चिकित्सा सहायता, बच्चों की शिक्षा के लिए सहायता और कानूनी सहायता पाने के लिए आवेदन करने का अधिकार. 
7. अ. 3) एसोसिएशन में अपने लेखन कार्य को पंजीकृत कराने का अधिकार.
7. अ. 4) डीएससी सलाहकार प्रकोष्ठ के माध्यम से डेस्प्यूट सेटलमेंट कमिटी से मध्यस्थता के लिए आवेदन करने का अधिकार.
7. अ. 5) एसोसिएशन के पुस्तकालय का उपयोग करने और समय समय पर एसोसिएशन द्वारा अपने सदस्यों को दी जाने वाली सुविधाओं का लाभ लेने का अधिकार.
7. अ. 6) स्क्रीनराइटर्स के उन आयोजनों, जो सभी सदस्यों के लिए खुले हों, में आयोजन के घोषित नियमों व शर्तों के अनुसार भाग लेने का अधिकार. 
7. अ. 7) स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन के आम निर्वाचन में मत देने और कार्यकारिणी समिति के चुनाव में खड़े होने का अधिकार. इसके लिए पात्रता की शर्तें सदस्यता श्रेणी के अनुसार नीचे के खंडों में उल्लिखित है. 
7. आ) फेलो मेम्बर के अधिकार :
7. आ. 1) एसोसिएशन में अपना लेखन कार्य पंजीकृत कराने का अधिकार.
7. आ. 2) डीएससी सलाहकार प्रकोष्ठ के माध्यम से डेस्प्यूट सेटलमेंट कमिटी से मध्यस्थता के लिए आवेदन करने का अधिकार.
7. आ. 3) एसोसिएशन के पुस्तकालय का उपयोग करने और समय समय पर एसोसिएशन द्वारा अपने सदस्यों को दी जाने वाली सुविधाओं का लाभ लेने का अधिकार.
7. आ. 4) स्क्रीनराइटर्स के उन आयोजनों, जो सभी सदस्यों के लिए खुले हों, में आयोजन के घोषित नियमों व शर्तों के अनुसार भाग लेने का अधिकार. 
7. इ) सदस्यों के उत्तरदायित्व और कर्तव्य :
7. इ.1) ऎसे किसी भी कार्य या व्यवहार में शामिल न होना, जिसकी वजह से एसोसिएशन की अखंडता, गरिमा अथवा प्रतिष्ठा को नुकसान हो.
7. इ. 2) आश्वस्त करना कि समय समय पर वह अपनी व्यक्तिगत सूचनाओं से एसोसिएशन के रिकॉर्ड्स को अपडेट कराता रहेगा/रहेगी.
7. इ. 3) सदस्यता नवीकरण शुल्क का नियमित भुगतान करना.
7. इ. 4) एसोसिएशन के आयोजनों, आमसभाओं, बैठकों और एसोसिएशन के कार्यालय में शांत, शालीन और गरिमापूर्ण व्यवहार करना. 
7. इ. 5) जानबूझकर एसोसिएशन के किसी सदस्य, अन्य लेखकों या किसी अन्य के किसी अधिकार और या कॉपीराइट का उल्लंघन नहीं करेंगे.
7. इ. 6) अन्य सदस्यता श्रेणी के लिए पात्रता हासिल करते ही अपनी सदस्यता उपयुक्त श्रेणी में अपग्रेड कराना.
किसी प्रकार से भी यदि इन उत्तरदायित्वों का उल्लंघन होता है तो नीचे लिखे खंडों में लिखित अनुशासनात्मक कार्रवाई के शिष्टाचार के तहत उनकी सदस्यता रद्द कर दी जायेगी और इसके लिए वह स्वयं उत्तरदायी होंगे.
8. सदस्यता के लिए अतिरिक्त नियम
8. अ) सदस्यता का निलम्बन व समापन : यदि कोई सदस्य 6 महीने तक सदस्यता शुल्क नहीं भरता और अपनी सदस्यता का नवीकरण कराने में असफल रहता है, तो उसे अपनी सदस्यता के नवीकरन के लिए 5 सौ का जुर्माना भरना होगा. जुर्माने की यह रकम 6 महीने से 18 महीने तक की देरी के लिए है. लेकिन यदि कोई सदस्य 18 महीने के बाद भी नवीकरण नहीं करा पाता है, तो सदस्यता नवीकरण तिथि से 24 महीने के भीतर उसे नवीकरण के लिए 1 हजार रुपए का जुर्माना भरना होगा. लेकिन यदि कोई सदस्य नवीकरण तिथि के 24 महीने के बाद भी जुर्माना सहित बकाया राशि भरकर नवीकरण करा पाने में असफल रहता है, तो उसकी सदस्यता समाप्त कर दी जायेगी. सदस्यता समापन के बाद यदि कोई व्यक्ति अपनी सदस्यता बहाल कराना चाहता है तो उसे नई सदस्यता के लिए जरूरी सारे शिष्टाचार निभाते हुए फिर से आवेदन करना होगा.
8. आ) नवीकरण शुल्क हर वर्ष के जनवरी माह में भरना होगा.
8. इ) एसोसिएशन सभी सदस्यों की नवीनतम जानकारी के साथ सदस्यता पंजी ( मेम्बरशिप रजिस्टर) बनाए रखेगा. हालाँकि, सदस्यों का यह व्यक्तिगत विवरण, जिसमें उसका फोन नम्बर, मोबाइल नम्बर, ईमेल आइडी और घर या ऑफिस का पता होगा, वह उस सदस्य की बिना लिखित अनुमति के किसी भी अन्य सदस्य या व्यक्ति या एजेंसी को न तो दिखाया जायेगा और न ही साझा किया जायेगा. (लेकिन, डेस्प्यूट के मामलों में एसोसिएशन के महासचिव की अनुमति के बाद वैध एजेंसी को किसी भी सदस्य का व्यक्तिगत विवरण दिया जा सकता है. 
9. प्रशासन : 
एसोसिएशन के मामलों का शासन प्रबंध इस प्रकार किया जाएगा :                                                                                               
9.अ) आमसभा : आमसभा, जिसमें एसोसिएशन के रेगुलर, लाइफ और एसोसिएट मेम्बर शामिल होंगे/होंगी, एसोसिएशन की देखरेख करने वाली सर्वोपरि बॉडी होगी, जो समय समय पर कार्यकारिणी समिति को दिशानिर्देश देने का कार्य करेगी. आमसभा के पास एसोसिएशन के कार्यों का परीक्षण करने, बहस करने और यहाँ तक कि अगर उसे लगे कि कार्यकारिणी समिति द्वारा लिए गये किसी निर्णय से एसोसिएशन के हितों के साथ समझौता हुआ है, तो उसे वैसे निर्णयों को पलटने का भी अधिकार होगा.
आमसभा स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन के संविधान के अनुसार कार्य करेगी.
9. आ) कार्यकारिणी समिति : कार्यकारिणी समिति में 31 सदस्य होंगे, जिनमें 3 सदस्य एसोसिएट श्रेणी से होंगे और कुल सात पदाधिकारी होंगे. कार्यकारिणी समिति का चुनाव हर दूसरे साल होगा. कार्यकारिणी समिति स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन के संविधान में दिए गये प्राधिकारों और दिशानिर्देशों के अनुसार कार्य करेगी तथा स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन के उद्देश्यों को लागू करने और दिन-प्रतिदिन के कामकाज के लिए उत्तरदायी होगी.    
10. पदाधिकारी
एसोसिएशन के पदाधिकारी इस प्रकार होंगे :
अध्यक्ष
उपाध्यक्ष  (दो)
महासचिव
संयुक्त सचिव (दो)
कोषाध्यक्ष                                                                                     उक्त सभी पदाधिकारी एसोसिएशन की चुनावी आमसभा में गुप्त मतदान द्वारा दो साल के लिए चुने जायेंगे.  पहली कार्यावधि की समाप्ति के बाद वे दूसरे कार्यकाल के लिए पुनः चुने जाने के पात्र होंगे/होंगी. किंतु किसी भी पदाधिकारी के तौर पर लगातार दो कार्यकाल पूरा करने के बाद वह पदाधिकारी के पद के लिए चुनाव नहीं लड़ सकते/सकती हैं. हाँ, वह कार्यकारिणी समिति के सदस्य के लिए चुनाव लड़ सकते/सकती हैं. और एक कार्यकाल के अंतर के बाद वह वापस पदाधिकारी पद के लिए चुनाव लड़ सकेंगे/सकेंगी.       
11. कार्यकारिणी समिति :
11.अ) कार्यकारिणी समिति के पास किसी भी बुरे आचरण वाले पदाधिकारी को उसके पद से हटाने का पूरा अधिकार होगा. लेकिन इससे पहले कार्यकारिणी समिति को नीचे की संबंधित धारा में वर्णित अनुशासनहीनता की कार्रवाई के शिष्टाचार का पालन करना होगा. 
11. आ) कार्यकारिणी समिति तबतक कार्य करना जारी रखेगी, जबतक चुनावी आमसभा में नई कार्यकारिणी समिति के निर्वाचन के बाद चुनाव अधिकारी द्वारा उसकी घोषणा नहीं हो जाती.                       
11. इ) यदि कार्यकारिणी समिति का कोई सदस्य कार्यकारिणी समिति की बुलाई गई बैठक में अपरिहार्य कारणवश आने में असमर्थ होता/होती है, तो उसे बैठक से पहले ही महासचिव से छुट्टी के लिए निवेदन करना होगा. यदि कोई सदस्य कार्यकारिणी समिति की लगातार तीन बैठकों में अनुपस्थित रहता है (या साल की 6 बैठकों में अनुपस्थित रहता है) और यदि उसकी अनुपस्थिति की वजह से कार्यकारिणी समिति आश्वस्त नहीं होती है, तब कार्यकारिणी समिति के पास यह प्राधिकार है कि वह उचित निर्णय करके कार्यकारिणी समिति से उस सदस्य की सदस्यता समाप्त कर दे. हाँ, लेकिन अगर वह चाहे तो आगामी चुनाव में कार्यकारिणी समिति के सदस्य के तौर पर चुनाव लड़ सकता/सकती है.  
11. ई) किसी अप्रत्याशित वजह से यदि किसी पदाधिकारी की जगह खाली होती है, तो कार्यकारिणी समिति अपने किसी सदस्य को उस स्थान के लिए चुन सकती है. यदि कार्यकारिणी समिति में किसी कारणवश कोई स्थान रिक्त होता है, तो कार्यकारिणी समिति एसोसिएशन के रेगुलर, लाइफ तथा एसोसिएट श्रेणी के किसी सदस्य को उस स्थान के लिए चुन सकती है. इनके अतिरिक्त कार्यकारिणी समिति को यह प्राधिकार है कि यदि उसे लगे कि एसोसिएशन के संचालन के लिए किसी व्यक्ति विशेष की आवश्यकता है, तो वह उस व्यक्ति को सदस्य के तौर पर चुन सकती है. कार्यकारिणी समिति यह सुनिश्चित करेगी कि कार्यकारिणी समिति की शक्ति एक महीने से अधिक समय तक 31 से कम नहीं होने पाएगी. साथ ही, कार्यकारिणी समिति के द्वारा चुने गये सदस्यों को मिलाकर कार्यकारिणी समिति के सदस्यों की कुल संख्या 35 से अधिक नहीं होगी.  
11. उ) कार्यकारिणी समिति अध्यक्ष की सलाह से महासचिव द्वारा निर्धारित स्थान, दिन और समय पर महीने में एक बार बैठक करेगी. लेकिन, आवश्यक होने पर आपात बैठकें की जा सकती हैं.  
11.उ.1) कार्यकारिणी समिति का कोई भी सदस्य, चाहे वह पदाधिकारी ही क्यों न हो, यदि दुराचार, दुष्कर्म में लिप्त या एसोसिएशन के हितों के विपरीत दोषी पाया जाता है, तो उसके खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी किया जायेगा, तत्पश्चात, कार्यकारिणी समिति या उसके द्वारा नियुक्त उससमिति उस सदस्य की सफाई या बचाव में दलील सुनेगी. यदि उस आरोपी सदस्य की सफाई या बचाव में दी गई दलील समिति को असंतोषजनक प्रतीत होती है, तो कार्यकारिणी समिति उस आरोपी सदस्य पर आर्थिक दंड लगा सकती है या कार्यकारिणी समिति की सदस्यता से उसे निलम्बित कर सकती है.
11.उ.2) एसोसिएशन का कोई सदस्य एसोसिएशन के हितों के खिलाफ किसी भी तरीके से, शब्दों से या क्रिया कलाप से दोषी पाया जाता है, या न्यायालय उसे किसी अपराध में दोषी ठहराता है, या किसी अन्य सदस्य के अधिकारों को हड़पने का दोषी पाया जाता है, तो वह आरोपी सदस्य एसोसिएशन की सदस्यता से स्वयं के निलम्बन का उत्तरदायी होगा. कार्यकारिणी समिति, या उसके द्वारा नियुक्त उपसमिति उक्त सदस्य को अपने बचाव में स्पष्टीकरण देने का अवसर देगी. यदि उसका स्पष्टीकरण असंतोषजनक समझा जाता है तो अपराध के स्वभाव और गंभीरता के आधार पर कार्यकारिणी समिति दो वर्ष या आजीवन उस सदस्य की सदस्यता निलम्बित कर सकती है. दो वर्ष की अवधि के बाद कार्यरत कार्यकारिणी समिति द्वारा उस मामले की पुनर्समीक्षा की जायेगी और जैसा उपयुक्त लगेगा, वैसी घोषणा की जायेगी कि निलम्बन रद्द होगा या आगे एक और कार्यकाल यानी दो वर्ष जारी रहेगा. वह सदस्य, जिसकी सदस्यता निलम्बित होगी, एसोसिएशन से मिलने वाला कोई भी लाभ (पंजीयन, चिकित्सा सहायता, डॆस्प्यूट सेटलमेंट कमिटी की मध्यस्थता सहायता सहित), जो सामान्य सदस्य को मिलता है, नहीं ले पाएगा/पाएगी और वह एसोसिएशन के चुनाव में खड़े होने या सिर्फ सदस्यों के लिए होनेवाले एसोसिएशन के किसी क्रियाकलाप में शामिल होने की पात्रता भी खो देगा/देगी. निलम्बित सदस्य को निलम्बन की अवधि तक वार्षिक नवीकरण शुल्क का भुगतान नहीं करना होगा.     
11. ऊ) कार्यकारिणी समिति की बैठक के लिए कम से कम तीन दिन पहले सूचना देनी होगी.
11. ए) अध्यक्ष : अध्यक्ष कार्यकारिणी समिति की बैठकों की अध्यक्षता करेगा.  
11. ऎ) अध्यक्ष कार्यकारिणी समिति के साथ-साथ आम सभा के आदेशों के संरक्षण के लिए उत्तरदायी होगा.  अतः यदि कोई सदस्य इनमें से किसी भी बैठक में उच्छृंखल अथवा नुकसान पहुँचानेवाला आचरण करता है, तो अध्यक्ष के पास यह प्राधिकार होगा कि वह उस व्यक्ति को बैठक से बाहर कर दे, आवश्यकता पड़ने पर इस कार्य के लिए अध्यक्ष सुरक्षा अधिकारी की मदद भी ले सकता है. अध्यक्ष बैठक के सभी कार्य विवरणों (मिनट्स) को हस्ताक्षरित करेगा और कार्यकारिणी समिति और आमसभा के प्रस्तावों पर मत देने का पात्र होगा. किंतु, इनमें से किसी भी बैठक में यदि मतदान के समय ‘टाई’ की स्थिति बनती है, तो टाई भंग करने के लिए अध्यक्ष के पास एक अतिरिक्त मत देने का प्राधिकार होगा.     
11. ओ)  अध्यक्ष अथवा महासचिव को यदि लगता है कि बैठक बुलाना जरूरी है, तो वह किसी भी समय आपात बैठक बुला सकता है.    
11. औ) उपाध्यक्ष : अध्यक्ष की अनुपस्थिति में वरिष्ठ उपाध्यक्ष अध्यक्ष के कर्तव्यों का निर्वहन करेगा. 
11. अं) महासचिव : महासचिव एसोसिएशन का मुख्य कार्यकारी अधिकारी होगा और एसोसिएशन व एसोसिएशन के कार्यालय के हर एक दिन के कामकाज के लिए उत्तरदायी होगा. 
11. अः) महासचिव कार्यकारिणी समिति की बैठकों के कार्य विवरणों के दस्तावेजीकरण के लिए उत्तरदायी होगा.          
11. क) महासचिव अध्यक्ष की सहमति से कार्यकारिणी समिति की सभी बैठकों का आयोजन करेगा.
11. ख) महासचिव कोषाध्यक्ष के साथ मिलकर सभी तरह के लेनदेन का हिसाब किताब रखेगा और प्राप्तियों तथा खर्चों के तमाम मदों को स्पष्टता के साथ दिखाने वाली वार्षिक बैलेंस शीट तैयार करेगा.    
11. ग) आवश्यकता पड़ने पर अध्यक्ष की सलाह और कार्यकारिणी समिति की स्वीकृति के बाद  महासचिव के पास एसोसिएशन कार्यालय के लिए वरिष्ठ प्रशासक अथवा अधिकारी या प्रबंधक या विशेषज्ञ या सलाहकार सहित कर्मचारी की नियुक्ति का प्राधिकार होगा.
11. घ) आवश्यकता पड़ने पर महासचिव सभी प्रकार के रिटर्न और नोटिस ट्रेड यूनियन के रजिस्ट्रार के सामने प्रस्तुत करेगा. 
11. च) संयुक्त सचिव : संयुक्त सचिव महासचिव को उसके कार्य व दायित्वों के निर्वहन में सहायता करेगा/करेगी.
11. छ) महासचिव की अनुपस्थिति में एक संयुक्त सचिव, जिसे महासचिव मनोनीत करे, वह महासचिव के सभी दायित्वों को पूरा करेगा/करेगी
11. ज) कोषाध्यक्ष : कोषाध्यक्ष एसोसिएशन के वित्त से जुड़े सभी खातों की देखरेख, और  कार्यकारिणी समिति के समक्ष वर्तमान महीने की वित्तीय रिपोर्ट्स, और आमसभा के समक्ष वार्षिक वित्तीय रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए उत्तरदायी होगा/होगी.
11. झ) कोषाध्यक्ष कार्यकारिणी समिति द्वारा स्वीकृत सभी खर्चों के भुगतान करेगा/करेगी
11. ट) धनादेश पर अध्यक्ष या महासचिव के हस्ताक्षर के बिना कोषाध्यक्ष के पास किसी भी बैंक खातों से रकम निकालने का अधिकार नहीं होगा.   
12. कोष :                                                          
12. अ) आय
12. अ. 1) एसोसिएशन का सामान्य कोष प्रवेश शुल्क, लाइफ मेम्बरशिप शुल्क, सदस्यों से प्राप्त होने वाले सदस्यता शुल्क, लेखन कार्यों के पंजीयन, डिस्प्यूट सेटलमेंट के एवज में प्राप्त सेवा शुल्क और मान्यता प्राप्त श्रोतों से मिलने वाली आय से मिलकर बनेगा. सामान्य कोष की राशि कार्यकारिणी समिति द्वारा स्वीकृत बैंक अथवा बैंकों में रखी जायेगी.  
12. अ. 2) बैंक खातों का संचालन अध्यक्ष या सचिव और कोषाध्यक्ष द्वारा किया जायेगा.
12. अ. 3) महासचिव अथवा कोषाध्यक्ष दैनिक खर्चों के लिए 10 हजार रुपए से अधिक नगद राशि नहीं रख सकेगा.
12. अ. 4) एसोसिएशन का सामान्य कोष ( ट्रेड यूनियन एक्ट,1926 के प्रावधानों के तहत ) निम्नलिखित मद के अलावा किसी और मद में खर्च नहीं किया जाएगा. यथा
12. आ) व्यय
12. आ. 1) एसोसिएशन के कर्मचारियों, सलाहकारों, सेवकों और अन्य सेवादारों के वेतन, भत्ते और अन्य लाभों. एसोसिएशन की कार्यकारिणी समिति के सदस्यों तथा अन्य स्वैच्छिक योगदानकर्ताओं के भत्तों एवं खर्चों. 
12. आ. 2) एसोसिएशन के सामान्य कोष का लेखा परीक्षण(ऑडिट) सहित एसोसिएशन के प्रशासनिक खर्चों का भुगतान.
12. आ. 3) सभी कानूनी और एसोसिएशन जिन मामलों में पक्ष है अथवा उसे हस्तक्षेप करना पड़ा है, उन मामलों से संबंधित खर्चों. कार्यकारिणी समिति के निर्णय के आधार पर उन सदस्यों को कानूनी और आर्थिक सहायता देना, जिनकी कानूनी लड़ाई, स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन के सदस्यों के अधिकारों को सुरक्षा देने और हासिल करने के संघर्ष के लिए प्रासांगिक हो.  
12. आ. 4) अपने उद्देश्यों की पूर्त्ति के लिए एसोसिएशन की किसी भी गतिविधि या पहल के लिए होने वाले खर्चों.
12. आ. 5) कल्याण अथवा शैक्षणिक अथवा ऎसी ही अन्य उपसमितियों, जो किसी चिकित्सा, शैक्षणिक अथवा अन्य कल्याण भत्ते की अनुशंसा के लिए उत्तरदायी हो या कार्यकारिणी समिति द्वारा स्वीकृत चिकित्सा, शैक्षणिक अथवा अन्य अन्य कल्याण भत्ते.
12. आ. 6) एसोसिएशन की गतिविधियों के संबंध में सूचना, संदेश व पत्रव्यवहार अथवा अन्य कोई प्रकाशन अथवा वेबसाइट से जुड़े खर्चे . 
12. आ. 7) उपरोक्त विषयों के अलावा एसोसिएशन का सामान्य कोष एसोसिएशन के सामान्य सदस्यों को लाभ पहुचाने के इरादे से किए गये किसी कार्य के योगदान पर प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तौर पर खर्च किया जा सकता है, लेकिन इस शर्त के साथ कि वह खर्च किसी भी हालत में (किसी भी वित्तीय वर्ष में) उस वर्ष के दौरान एसोसिएशन के सामान्य कोष की अर्जित शुद्ध आय से अधिक न हो. 
13. लेखा परीक्षण:
13. अ) कार्यकारिणी समिति के द्वारा नियुक्त एक सुयोग्य लेखा परीक्षक (ऑडिटर) के द्वारा एसोसिएशन के खातों के परीक्षण का प्रावधान होगा (बॉम्बे ट्रेड यूनियन रेगुलेशंस, 1927 के रूल 18 के अनुसार). 
13. आ) एसोसिएशन की खाता बही कार्यालय अवधि में किसी भी सदस्य के निरीक्षण के लिए उपलब्ध रहेगी, किंतु इससे पहले सदस्य को कारण विशेष की जानकारी देते हुए महासचिव से अनुमति लेनी होगी. जबकि, एसोसिएशन की कार्यकारिणी समिति के सदस्य कार्यालय अवधि में इन खाता बहियों का निरीक्षण करने को स्वतंत्र हैं. 
14. आमसभा
14. अ) निम्नलिखित कार्यव्यवहार के लिए एसोसिएशन की वार्षिक आमसभा प्रत्येक वर्ष अगस्त महीने में होगी, 
14. अ. 1) पिछली आमसभा के कार्य विवरणों की पुष्टि के लिए.                              
14. अ. 2) उस वर्ष के दौरान एसोसिएशन द्वारा किए गए कार्य की रिपोर्ट की स्वीकृति के लिए.                                                                    
14. अ. 3) खातों के अंकेक्षित बयानों की स्वीकृति के लिए
14. अ. 4) ऑडिटर की नियुक्ति और उसके पारिश्रमिक को सुनिश्चित करने के लिए.
14. अ. 5) अजेंडे में महासचिव द्वारा रखे गए किसी अन्य विषय पर चर्चा हेतु
14. अ. 6) सभाध्यक्ष की अनुमति से चर्चा के लिए लाया गया कोई अन्य कार्य व्यवहार.                                                                                                                                                                                         
15. विशेष आम सभा
15. अ) अध्यक्ष या महासचिव या कार्यकारिणी समिति (अपने सदस्यों के बहुमत से) किसी विषय विशेष पर चर्चा या निर्णय या समाधान के लिए विशेष आमसभा बुला सकते हैं.
15. आ) विशेष आमसभा तब भी बुलाई जा सकती है, यदि लाइफ और रेगुलर मेम्बर्स के पाँच सौ से अधिक सदस्य विशेष आमसभा बुलाने के लिए कार्यकारिणी समिति को हस्ताक्षरित माँग पत्र सौंपते हैं. नोट : यदि अध्यक्ष या महासचिव माँग पत्र सौंपे जाने के बीस दिन के अन्दर विशेष आमसभा बुलाने में असफल रहते हैं, तब विशेष आमसभा की माँग करनेवाले सदस्यों का समूह इस बाबत पूर्व सूचना देने के बाद विशेष आमसभा बुलाने का अधिकारी हो जायेगा और इस विशेष आमसभा की कार्यवाहियाँ एसोसिएशन के लिए बाध्यकारी होंगी.     
16. बैठक की सूचना :
विशेष आमसभा अथवा आमसभा की बैठक बुलाने के लिए सदस्यों को कम से कम 15 दिन पहले सूचना देना अनिवार्य है.
17. गणपूर्त्ति
आमसभा की बैठक शुरु करने के लिए कम से कम दो सौ पचास सदस्यों की उपस्थिति अनिवार्य है. अगर सदस्यों की यह संख्या पूरी नहीं हो पाती है तो बैठक कुछ समय के लिए स्थगित कर दी जायेगी. स्थगन के बाद बैठक शुरु करने के लिए गणपूर्ति (कोरम) की आवश्यकता नहीं रह जायेगी.
18. निर्वाचन :
18. अ) कार्यकारिणी समिति का कार्यकाल पूरा होने के बाद आमसभा की बैठक में अगले कार्यकाल के लिए कार्यकारिणी समिति का निर्वाचन होगा.
18. आ) कोई भी रेगुलर सदस्य, जिसके छह महीने से अधिक के सदस्यता शुल्क बाकी न हों तथा कोई भी रेगुलर या लाइफ मेम्बर जिनकी सदस्यता निलम्बित नहीं है, नीचे लिखे प्रासंगिक धारा में वर्णित पात्रता को पूरा करता है, कार्यकारिणी समिति के चुनाव में समिति के सदस्य या पदाधिकारी के लिए अपना नामांकन कर सकता है. 
18. इ) एसोसिएट मेम्बर कार्यकारिणी समिति के सदस्य के लिए चुनाव लड़ सकता है. यदि उसके  छह महीने से अधिक समय के सदस्यता शुल्क बाकी नहीं हों, ऎसे में उसे एसोसिएट मेम्बर्स के लिए आरक्षित सीट के लिए नामांकन पत्र भरना होगा.  
18. ई) पात्रता
18. ई. 1) कोई भी रेगुलर या लाइफ मेम्बर, जिसकी तीन फीचर फिल्म रिलीज हो चुकी हो, और इनमें से कम से कम एक फिल्म पिछले पाँच साल के अन्दर रिलीज हुई हो या आधे घंटे के सौ एपिसोड या एक घंटे के 25 एपिसोड या इनके समकक्ष समय के संदर्भ में कमसे कम 10 घंटे का कार्यक्रम पिछले पाँच सालों में टीवी अथवा किसी अन्य नए मीडिया पर आया हो या 25 गीत, जिनमें से कमसे कम 10 गीत पिछले पाँच वर्षों में रिलीज हुए हैं, वह कार्यकारिणी समिति के पदाधिकारी यानी ऑफिस बेयरर का चुनाव लड़ सकते हैं. कार्यकारिणी समिति के सदस्य का चुनाव लड़ने के लिए कम से कम एक फिल्म या 10 घंटे का कार्यक्रम टीवी अथवा किसी अन्य नए मीडिया पर या 10 गीत पिछले आठ वर्षों में रिलीज हुए हों.   
18. ई. 2) कार्यकारिणी समिति के पदाधिकारी यानी ऑफिस बेयरर का चुनाव वही लड़ सकता है, जो कमसेकम एक कार्यकाल तक कार्यकारिणी का सदस्य रहा हो. 
18. ई. 3) कार्यकारिणी समिति के सदस्य के लिए आरक्षित सीट पर वही एसोसिएट मेम्बर चुनाव लड़ सकता है, एसोसिएशन की जिसकी सदस्यता कमसे कम एक साल पुरानी हो और छह से अधिक महीने के सदस्यता शुल्क बाकी न हों. 
18. ई. 4) स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन का जो सदस्य किसी प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन या गिल्ड की कार्यकारिणी समिति या उसके समकक्ष किसी निकाय अथवा संस्था का सदस्य हो, वह स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन की कार्यकारिणी समिति का चुनाव लड़ने पात्र नहीं होगा. अगर स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन की कार्यकारिणी समिति के कार्यकाल के दौरान कार्यकारिणी समिति का कोई सदस्य या पदाधिकारी प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन या गिल्ड की कार्यकारिणी समिति या समकक्ष किसी निकाय में चुना जाता है, तो उसे स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन की कार्यकारिणी समिति से त्यागपत्र देना होगा. 
18. उ)  निर्वाचन के लिए प्राप्त नामांकन पत्रों की वैधानिकता निर्धारित करने के लिए कार्यकारिणी समिति द्वारा नियुक्त जाँच समिति प्राप्त सभी नामांकन पत्रों की जाँच करेगी. जाँच समिति कमसे कम पाँच सदस्यों वाली होगी. जाँच समिति के सदस्य वे होंगे, जो एसोसिएशन का चुनाव न लड़ रहे हों या वे फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉइज की सलाह से नियुक्त किए जायेंगे. अपात्र नामांकन जाँच समिति द्वारा अवैध कर दिये जायेंगे.
18. ऊ) चुनाव के लिए बुलाई गई आमसभा में उम्मीदवारों की उपस्थिति अनिवार्य होगी. किंतु, यदि अनुपस्थित रहनेवाला उम्मीदवार पहले ही अपने अनुपस्थित रहने की वजह लिखकर बता चुका हो और जाँच समिति ने उसे अनुपस्थित रहने की अनुमति दे दी हो, तो उसे उपस्थित रहने की छूट होगी.
18. ए) मतदान या तो मतदान पत्र के माध्यम से या इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन और अथवा ऑनलाइन प्रक्रिया (ई-वोटिंग) के माध्यम से गोपनीय तरीके से होगा. कार्यकारिणी समिति विशेषज्ञों की सहायता से मतदान करने के सारे माध्यमों के सुरक्षा उपायों की अच्छी तरह से जाँच करने के बाद ही मतदान के लिए रखने की अनुमति देगी.   
18. ऎ) पदाधिकारियों समेत कार्यकारिणी समिति के सभी सदस्य चुनाव शुरु होने से पहले सामान्य कार्य व्यवहार पूरा करने के बाद रिटायर हो जायेंगे.
18. ओ) चुनाव से पहले जाँच समिति अपने सदस्यों में से किसी एक सदस्य या चुनाव नहीं लड़ रहे वहाँ उपस्थित किसी एक सदस्य को चुनाव अधिकारी नियुक्त करेगी. यह चुनाव अधिकारी चुनाव की सभी प्रक्रियाओं का संचालन करेगा/करेगी और चुनाव के परिणाम की घोषणा करेगा/करेगी. निवर्तमान कार्यकारिणी समिति के सदस्य या पदाधिकारी को चुनाव अधिकारी नियुक्त नहीं किया जायेगा.
18. औ)  नियुक्त किया गया चुनाव अधिकारी उपस्थित जाँच समिति के सदस्यों और आमसभा में उपस्थित चुनाव नहीं लड़ रहे एसोसिएशन के सदस्यों और स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन के कर्मचारियों की सहायता से चुनाव का संचालन करेगा.                        
18. क) निर्वाचन अधिकारी चुनाव परिणामों की घोषणा करेगा/करेगी. चुनाव लड़ रहे प्रत्येक उम्मीदवारों को प्राप्त मतों की संख्या घोषित की जायेगी. निर्वाचन अधिकारी द्वारा नई कार्यकारिणी समिति की घोषणा की जाते ही, नवनिर्वाचित कार्यकारिणी समिति की बैठक होगी और उसके कार्यविवरण लिखे जायेंगे. कार्यकारिणी समिति की अगली बैठक अगले तीन कार्य दिवस के भीतर बुलाई जायेगी. स्थान और समय कार्यसमिति तय करेगी. इसलिए यह आवश्यक है कि चुनाव लड़ रहे सभी उम्मीदवार इस चुनावी आमसभा में उपस्थित रहें. हाँ, विशेष परिस्थिति में निर्वाचन अधिकारी की पूर्वानुमति से उन्हें छूट दी जा सकती है. यदि कोई उम्मीदवार पुनर्मतगणना की माँग करता है, तो इसकी अनुमति तभी दी जा सकती है, जब उस उम्मीदवार को प्राप्त मत जीतनेवाले उम्मीदवार को प्राप्त कुल मतों के बीच का अंतर पाँच प्रतिशत से कम हों, या चुनाव अधिकारी को यदि मतगणना के दौरान लगता है कि मतदान के लिए उपयोग में लाई गई मशीन में किसी तरह की छेड़छाड़ की गई है या कोई तकनीकी खराबी है, और जाँच समिति इसकी पुष्टि करती है, तो भी दोबारा मतगणना की जा सकती है.
19.पद का रिक्त होना और उपचुनाव :
19.1. यदि आमसभा या कार्यकारिणी समिति के किसी निर्देश या निवास स्थान के बदलने या त्यागपत्र या बीमारी या मृत्यु या फिर सदस्यता समाप्त होने की वजह से पदाधिकारी का कोई पद रिक्त होता है, तो उसे कार्यकारिणी समिति के द्वारा चुनकर भरा जायेगा.  

19.2.) किसी कारणवश कोषाध्यक्ष का पद रिक्त होता है, तब कार्यकारिणी समिति नये कोषाध्यक्ष के लिए अपने सदस्यों के बीच चुनाव करवाएगी. नए कोषाध्यक्ष के चुने जाने से पहले तक अध्यक्ष और महासचिव बैंक खातों का संचालन करेंगे और दैनिक आर्थिक मामलों की देखरेख करेंगे.

 

 

19.3) चुनामी आमसभा में किसी सदस्य के चुनाव के खिलाफ कोई जायज आपत्ति उठ खड़ी होती है, तो उनदोनों के मतों को फिर से गिना जायेगा अगर जीतने वाले तथा हारने वाले सदस्य के प्राप्त मतों में यदि पाँच मतों से ज्यादा का अंतर न हो.         
20 उपसमितियाँ :
स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन के लक्ष्य और उद्देश्यों को पूरा करने के लिए कार्यकारिणी समिति को उपसमतियों के गठन का अधिकार होगा.
21 संविधान संशोधन :
21. अ) कार्यकारिणी समिति स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन के संविधान के संशोधन का प्रस्ताव रख सकती है. प्रस्ताव पर बहस के लिए कार्यकारिणी समिति प्रस्तावित संशोधनों के साथ कम से कम 15 दिन पहले सदस्यों को सूचना भेजकर विशेष आमसभा बुला सकती है.  
21. आ) संशोधन स्थगित की गई सभा में पास नहीं होंगे.
21. इ) संविधान में संशोधन की सूचना प्राप्त होने के बाद कोई भी रेगुलर या लाइफ मेम्बर संविधान में संशोधन का प्रस्ताव रख सकता है, किंतु उसका प्रस्ताव सभा से कम से कम सात दिन पहले स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन कार्यालय को प्राप्त हो जाना चाहिए. सदस्यों से प्राप्त संधोधन प्रस्तावों की कार्यकारिणी समिति जाँच करेगी कि उक्त प्रस्तावित संशोधन देश के किसी कानून या आवश्यक लक्ष्य व उद्देश्यों और सिद्धांतों का, जिस आधार पर स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन का गठन किया गया है, उसका उल्लंघन तो नहीं होता है.     
21. ई) यदि इस आमसभा को शुरू करने के लिए जरूरी गणपूर्त्ति (कोरम) नहीं होती है, तो यह विशेष आमसभा प्रस्तावित संशोधनों पर चर्चा किए बगैर समाप्त को जायेगी. ऎसी परिस्थिति में कार्यकारिणी समिति इस आमसभा के एक महीने बाद पुनः प्रस्तावित संशोधनों के एजेंडे के साथ विशेष आमसभा बुला सकेगी. यदि इस सभा में भी गणपूर्त्ति नहीं होती है, तो सभा 30 मिनट के लिए स्थगित की जायेगी. सभा की स्थगन अवधि के बाद सभा फिर से शुरू होगी और गणपूर्ति के बिना प्रस्तावित संशोधनों का एजेंडा चर्चा के लिए रखा जायेगा और उपस्थित रेगुलर एवं लाइफ मेम्बर्स के दो तिहाई बहुमत से प्रस्तावित संशोधनों को पास किया जा सकता है. 
22. विघटन
एसोसिएशन की सूची पर दर्ज उन सदस्यों, जिनके पास मतदान का अधिकार है और जो विघटन के उद्देश्य से बुलाई गई आमसभा में उपस्थित हों, के बहुमत के बिना एसोसिएशन का विघटन नहीं होगा. एसोसिएशन के विघटन की स्थिति में एसोसिएशन के सभी कोष और दायित्वों का निस्तारण विघटन सभा के निर्णय के अनुसार होगा.   


Click here to Top